क्या

क्या है यह क्षितिज जो फिर मुझे दिख रहा है ?

क्या है यह मेरा भ्रम या सच में कुछ हो रहा है ?

क्या है यह मेरी मंज़िल या है पहला पड़ाव यह ?

क्या है यह समन्दर या अभी तक साहिल चल रहा है ?

क्या आप जानते हैं मुझे मैं ख़ुद से बेख़बर हूँ जो ?

या फिर आपके हाथों से भी सच फ़िसल रहा है ?

 

क्या है यह क्षितिज जो फिर मुझे दिख रहा है ?

2 thoughts on “क्या”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s