क्या है मेरी हस्ती ?

क्या है मेरी कोई हस्ती इस तन के सिवा भी ?

मिल जाएगा जिस दिन यह मिट्टी में

तो क्या गुम हो जाऊँगी मैं कहीं ?

 

क्या है मेरी कोई हस्ती तसव्वुर के परे भी ?

बुझ जाएगी जिस दिन लौ उम्मीद की

तो क्या गुम हो जाऊँगी मैं कहीं ?

 

क्या है मेरी कोई हस्ती दूसरों के बिना भी ?

अगर कोई न जाने मुझे, न पहचाने मुझे

तो क्या गुम हो जाऊँगी मैं कहीं ?

 

क्या है मेरी कोई हस्ती ?

क्या है मेरी हस्ती ?

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s